Contact us for coverage : +91-6284337232, Active Visitor: 3351

मुकुल रॉय की घर वापसी से भाजपा को कितना नुकसान, जानें बंगाल की सियासत के सभी समीकरण

दिनांक: 12/06/2021



आज शाम प्लस
मुकुल रॉय की घर वापसी पश्चिम बंगाल में भाजपा के लिए एक और बड़ा झटका है। करीब चार साल पहले भाजपा में आए मुकुल रॉय ने लोकसभा चुनावों के दौरान पार्टी की चुनावी रणनीति को पश्चिम बंगाल में जमीन पर उतारने में अहम भूमिका निभाई थी, जिसके बाद भाजपा में उन्हें राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी भी सौंपी। लेकिन विधानसभा चुनावों के बाद बदली राजनीतिक परिस्थितियों में मुकुल रॉय खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे थे। मौका का फायदा उठाकर ममता उन्हें वापस लाने में कामयाब रहीं।

मुकुल रॉय ममता बनर्जी के बेहद करीबी रहे हैं। यह माना जाता है कि चुनावों से पूर्व तक तृणमूल कांग्रेस में बड़े पैमाने पर हुई तोड़फोड़ में भी रॉय की भूमिका रही है। लेकिन चुनाव नतीजों के बाद खास तवज्जो नहीं मिलने से मुकुल रॉय बेहद आहत थे। उधर, भाजपा केंद्रीय नेतृत्व की तरफ से शुभेंदु अधिकारी को आगे बढ़ाए जाने से रॉय कहीं ज्यादा खफा हो गए थे। शुभेंदु को विपक्ष का नेता बनाया गया है।

ट्रेंडिंग खबरे